bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

 

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा राजस्थान के कुचामन सिटी (जिला नागौर) और सुजानगढ़ (जिला चुरू) में आयोजित विशाल जन-सभाओं में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

 

राजस्थान की जनता ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिंधिया जी की विकास यात्रा के साथ एकजुट रहने का मन बना लिया है, कांग्रेस चाहे जितना भी षड्यंत्र रचे, जितना भी नफरत की राजनीति करे, अब उसकी दाल राजस्थान में नहीं गलने वाली

*************

एक समाचार पत्र में आज प्रकाशित ख़बर के अनुसार एक बड़ी कंपनी को हजारों-करोड़ रुपये का लोन मिला जिसका कमीशन गाँधी-नेहरू फैमिली के दामाद के पास पहुंचा जिसने इस कमीशन से राजस्थान में लगभग डेढ़ सौ हेक्टेयर जमीन औने-पौने दाम में खरीद कर इसे करोड़ों-अरबों में बेच दिया। इस तरह ये सारा पैसा गाँधी-नेहरू परिवार के दामाद की कंपनी के खाते में पहुँच गया

*************

मैं कांग्रेस अध्यक्ष से पूछना चाहता हूँ कि आज जो गाँधी-नेहरू परिवार के दामाद के बारे में खबर समाचार पत्र में प्रकाशित हुई है, क्या राहुल गाँधी इस पर कोई जवाब देंगे?

*************

राहुल गाँधी, कांग्रेस की सरकार में संदेसरा, नीरव मोदी, विजय माल्या जैसे लोग इसलिए नहीं भागते थे क्योंकि उन्हें कांग्रेस सरकार से कोई डर ही नहीं था। कांग्रेस के साथ तो इनकी पार्टनरशिप चल रही थी। जैसे ही केंद्र में मोदी सरकार आई, पकड़े जाने और जेल जाने के डर से ये भागने शुरू हो गए

*************

राहुल गाँधी बताएं कि आपसे इन बैंक लुटेरों के रिश्ते कैसे थे कि आपकी सरकार के समय इन्हें भागना नहीं पड़ता था? हमारा तो कोई रिश्ता ऐसे लोगों के साथ नहीं है, इसलिए तो इन्हें डर लग रहा है

*************

मैं राजस्थान की जनता को विश्वास दिलाता हूँ कि कोई कहीं भी भाग जाए, हम देश का पाई-पाई वापस लाकर रहेंगे और मोदी सरकार इसके लिए प्रतिबद्ध है। मोदी सरकार ने कड़े क़दमों और कड़े क़ानून का ही परिणाम है कि बैंकों का पैसा न चुकाने वाले लोगों की 20,000 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच हुई है

*************

राहुल गाँधी बैंकों के एनपीए की रट लगाए फिरते हैं लेकिन उन्हें याद होना चाहिए कि सारे एनपीए कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन की सरकार के समय उनके भ्रष्टाचार के कारण ही हुए। एनपीए सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस सरकार के पापों का ही परिणाम है

*************

कांग्रेस पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है, यह गाँधी-नेहरू परिवार की प्राइवेट फर्म बन गई है। कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है जिसका न कोई नेता है, नीति है, सिद्धांत है, बस एक परिवार है जिसने केवल अपने बारे में सोचा, देश की जनता के बारे में नहीं

*************

राहुल गाँधी को राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की जीत का दिवास्वप्न आ रहा है जबकि 2014 से आज तक देश में सभी चुनावों में कांग्रेस पार्टी की करारी हार हुई है। राजस्थान में भी कांग्रेस का यही हश्र होने वाला है

*************

भारत माता की जय' कहने में भी जिस कांग्रेस पार्टी को शर्म की अनुभूति होती है, वह कभी देश का और राजस्थान का भला नहीं कर सकती

*************

कांग्रेस ने बाबा साहेब को कभी स्वीकार नहीं किया, यह भारतीय जनता पार्टी थी, जिसके समर्थन से केंद्र में बनने वाली सरकार ने बाबा साहेब को भारत रत्न से सम्मानित किया और मोदी सरकार ने बाबा साहेब से जुड़े पञ्चतीर्थ के निर्माण का बीड़ा उठाया

*************

13वें वित्त आयोग के दौरान कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन सरकार ने राजस्थान को विकास के लिए महज 1,09,244 करोड़ रुपये दिए जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग में 2,63,580 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं

*************

मोदी सरकार ने किसानों को उनकी फसल के लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का निर्णय लिया जिससे किसानों की आय को बढ़ाने में मदद मिल रही है। प्रधानमंत्री फसल बीमा, स्वायल हेल्थ कार्ड, -मंडी, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना आदि योजनाओं से किसानों के जीवन में बदलाव आ रहा है

*************

राजस्थान में वसुंधरा सरकार राज्य के हर घर तक विकास को पहुंचाने में सफल रही है। राज्य में भामाशाह स्वास्थ्य योजना से 24 लाख, उज्ज्वला योजना से 32 लाख, मुद्रा योजना से 40 लाख, प्रधानमंत्री आवास योजना से 13 लाख और राजश्री योजना से 11 लाख लोगों लाभान्वित हुए हैं। 50 लाख महिलाओं को मोबाइल मिला है

*************

पांच वर्ष पूर्व कांग्रेस की गहलोत सरकार के समय राजस्थान का बजट महज 94,000 करोड़ रुपये था जबकि वसुंधरा सरकार के समय यह बढ़ कर 2,12,000 करोड़ रुपये तक पहुँची है। प्रति व्यक्ति आय पांच वर्ष में ही 61,000 रुपये से बढ़ कर 76,000 रुपये हो गई है

*************

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश सुरक्षित और मजबूत हुआ है। सर्जिकल स्ट्राइक से विश्व भर में भारत एक निर्णायक राष्ट्र के रूप  में प्रतिष्ठित हुआ है

*************

राहुल गाँधी एंड कंपनी को घुसपैठियों के मानवाधिकार की चिंता तो है लेकिन देश के नागरिकों के मानवाधिकार की चिंता नहीं है। 2019 में केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में फिर से सरकार आने के बाद देश में एक भी घुसपैठिये को नहीं रहने दिया जाएगा

*************

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज राजस्थान के कुचामन सिटी (जिला नागौर) और सुजानगढ़ (जिला चुरू) में विशाल जन-सभाओं को संबोधित किया और भ्रष्टाचार एवं नफरत की राजनीति की जननी कांग्रेस पार्टी पर करारा हमला किया।

 

श्री शाह ने कहा एक दैनिक समाचारपत्र के मुख्य पृष्ठ पर छपी खबर का हवाला देते हुए कहा कि खबर के मुताबिक़ एक बड़ी कंपनी को हजारों-करोड़ रुपये का लोन मिला और एक महीने के भीतर ही इसका कमीशन गाँधी-नेहरू फैमिली के दामाद के पास पहुंचा जिसने इस कमीशन से राजस्थान में लगभग डेढ़ सौ हेक्टेयर जमीन औने-पौने दाम में खरीदी। कुछ समय बाद फिर इस प्रोपर्टी को करोड़ों-अरबों में बेच दिया गया। इस तरह ये सारा पैसा गाँधी-नेहरू परिवार के दामाद की कंपनी के खाते में पहुँच गया। उन्होंने कहा कि मैं आज कांग्रेस अध्यक्ष से पूछना चाहता हूँ कि यह जो खबर समाचार पत्र में प्रकाशित हुई है, क्या राहुल गाँधी इस पर कोई जवाब देंगे?

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गाँधी एंड कंपनी हमें पूछते हैं कि संदेसरा क्यों भाग गया, नीरव मोदी क्यों भाग गया, शराब व्यापारी माल्या क्यों भाग गया लेकिन राहुल गाँधी, इनको सारे लोन आपके ही सोनिया-मनमोहन सरकार में दिए गए। राहुल गाँधी, कांग्रेस की सरकार में ये इसलिए नहीं भागते थे क्योंकि उन्हें सरकार से कोई डर ही नहीं था। कांग्रेस के साथ तो इन भगौड़ों की पार्टनरशिप चल रही थी। जिस के साथ पार्टनरशिप हो, कभी कोई भागेगा क्या? जैसे ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई, इन बैंक लुटेरों को डर लगने लगा कि अब तो सलाखों के पीछे जाना पड़ेगा और वे भागने शुरू हो गए। राहुल गाँधी से सवाल पूछते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी, आप ये बताइये कि आपसे इन बैंक लुटेरों के रिश्ते कैसे थे कि आपकी सरकार के समय इन्हें भागना नहीं पड़ता था? हमारा तो कोई रिश्ता ऐसे लोगों के साथ नहीं है, इसलिए तो इन्हें डर लग रहा है।

 

श्री शाह ने कहा कि मैं राजस्थान की जनता को यह कहने आया हूँ कि कोई कहीं भी भाग जाए, हम देश का पाई-पाई वापस लाकर रहेंगे और मोदी सरकार इसके लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जो भागकर विदेश गए हैं, उनकी भी लगभग 20 हजार करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी जब्त कर ली गई है। उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी, आपकी कांग्रेस सरकार के समय बैड लोन रिन्यू पर रिन्यू होता रहता था और बैठ कर मलाई खाई जाती थी क्योंकि किसी को भी डर नहीं था जबकि मोदी सरकार ने कठोरता से कदम उठाये हैं, कड़े क़ानून बनाए हैं और इसी का परिणाम है कि बैंकों का पैसा न चुकाने वाले लोगों के लगभग 20,000 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच हुई है। उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी बैंकों के एनपीए की रट लगाए फिरते हैं लेकिन उन्हें याद होना चाहिए कि सारे एनपीए कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन की सरकार के समय उनके भ्रष्टाचार के कारण ही हुए। एनपीए सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस सरकार के पापों का ही परिणाम है।

 

कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है, यह गाँधी-नेहरू परिवार की प्राइवेट फर्म बन गई है. कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है जिसका न कोई नेता है, नीति है, सिद्धांत है, बस एक परिवार है जिसने केवल अपने बारे में सोचा, देश की जनता के बारे में नहीं। उन्होंने कहा कि राजस्थान की जनता ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिंधिया जी की विकास यात्रा के साथ एकजुट रहने का मन बना लिया है, कांग्रेस चाहे जितना भी षड्यंत्र रचे, अब उसकी दाल राजस्थान में नहीं गलने वाली। उन्होंने कहा कि श्री शाह ने 2014 से अब तक हुए राज्य-दर-राज्य चुनाव परिणामों का हवाला देते हुए कहा कि राहुल गाँधी को राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की जीत का दिवास्वप्न आ रहा है जबकि 2014 से आज तक देश में सभी चुनावों में कांग्रेस पार्टी की करारी हार हुई है। राजस्थान में भी कांग्रेस का यही हश्र होने वाला है। उन्होंने कहा कि राजस्थान श्रद्धेय भैरों सिंह शेखावत जी और श्रद्धेय सुंदर सिंह भंडारी जी की धरती है, राजस्थान में भाजपा अंगद का पाँव है जिसे कोई डिगा नहीं सकता। भारतीय जनता पार्टी भारी बहुमत से राजस्थान में पुनः सरकार बनाने जा रही है।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस प्रत्याशी अपने ही पार्टी कार्यकर्ताओं कोभारत माता की जय' नहीं बोलने देते और उन्हेंसोनिया गाँधी जिंदाबाद' के नारे लगाने को विवश करते हैं। उन्होंने कहा कि इस देश में जिस किसी को भीभारत माता की जय' बोलने में हिचकिचाहट होती है, उन्हें राजनीति में रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि हम भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता हैं, ‘भारत माता की जय' का उद्घोष करने के लिए तो हमारे प्राण भी कुछ क्षणों के लिए वापिस आ जाते हैं।भारत माता की जय' कहने में भी जिस कांग्रेस पार्टी को शर्म की अनुभूति होती है, वह कभी देश का और राजस्थान का भला नहीं कर सकती।

 

श्री शाह ने कहा कि भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर ने संविधान की रचना की लेकिन कांग्रेस ने कभी उन्हें स्वीकार नहीं किया। कांग्रेस ने बाबा साहेब को परिनिर्वाण के बाद भी उन्हें भारत रत्न से सम्मानित नहीं किया, यह भारतीय जनता पार्टी थी, जिसके समर्थन से केंद्र में बनने वाली सरकार ने बाबा साहेब को भारत रत्न से सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि हजारों योजनाएं एक ही परिवार के नाम पर हैं, दिल्ली में सभी स्मारक एक ही परिवार के नाम पर हैं, मकान और जमीन पर एक ही परिवार का कब्जा है, लेकिन बाबा साहेब के लिए स्मारक बनाने के लिए कांग्रेस कभी आगे नहीं आई। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने बाबा साहेब से जुड़े पञ्चतीर्थ के निर्माण का बीड़ा उठाया और मऊ में बाबा साहेब की जन्मभूमि, नागपुर में दीक्षा भूमि, मुंबई में चैत्य भूमि और दिल्ली में कर्म भूमि पर काम किया।

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस की गहलोत सरकार राजस्थान कोबीमारु प्रदेश' में तब्दील कर के गई थी, वसुंधरा सरकार के पांच साल में राजस्थानविकसित प्रदेश' बना है, अगले पांच सालों में वसुंधरा सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की अगुआई में राजस्थान को एकसमृद्ध प्रदेशके रूप में प्रतिष्ठित करेगी। उन्होंने कहा कि आजादी से लेकर अब तक के दौरान 55 सालों तक कांग्रेस ने देश पर शासन किया लेकिन इन 55 सालों के शासन में कांग्रेस ने सत्ता का उपभोग करने के सिवा कुछ भी नहीं किया जबकि भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता को हमेशा सेवा का माध्यम मानते हुए केवल और केवल विकास किया।

 

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राजस्थान की जनता राहुल गाँधी से उनकी चार पीढ़ियों के कार्यकाल का हिसाब मांग रही है। उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग के दौरान कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन सरकार ने राजस्थान को विकास के लिए महज 1,09,244 करोड़ रुपये दिए जबकि मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग में 2,63,580 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त केन्द्रीय योजनाओं में राजस्थान को केंद्र की भाजपा सरकार की ओर से लगभग 36,000 करोड़ रुपये की राशि दी गई।उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने उज्ज्वला योजना के माध्यम से गरीबों के घर में गैस पहुंचाने का काम किया है, स्वच्छ भारत अभियान के माध्यम से हर घर में शौचालय पहुंचाया है, सौभाग्य योजना से हर घर में बिजली पहुंचाई है, मुद्रा बैंक योजना से स्वरोजगार का अभियान चलाया है और अब देश के लगभग 50 करोड़ गरीब लोगों को 5 करोड़ रुपये का स्वास्थ बीमा उपलब्ध कराकर गरीबों को बहुत बड़ी राहत दी है जबकि कांग्रेस पार्टी आजादी के 70 सालों में भी कोई काम कर नहीं पाई। उन्होंने कहा कि जिस काम को कांग्रेस आजादी के 70 सालों में भी नहीं कर पाई, इसे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने साढ़े चार वर्षों में कर दिखाया है। आजादी के वक्त से ही देश के किसान अपनी फसल के उच्च समर्थन मूल्य की मांग कर रहे थे लेकिन कांग्रेस की केंद्र सरकार आँखें मूंद बैठी रहीं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों को उनकी फसल के लागत मूल्य का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का निर्णय लिया जिससे किसानों की आय को बढ़ाने में मदद मिल रही है। प्रधानमंत्री फसल बीमा, स्वायल हेल्थ कार्ड, -मंडी, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना आदि योजनाओं से किसानों के जीवन में बदलाव आ रहा है।

 

श्री शाह ने कहा कि राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी की वसुंधरा सरकार राज्य के हर घर तक विकास को पहुंचाने में सफल रही है। उन्होंने कहा कि भामाशाह स्वास्थ्य योजना से 24 लाख लोग लाभान्वित हुए हैं, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से 32 लाख महिलाओं को गैस के कनेक्शन मिले हैं, मुद्रा योजना से राज्य के लगभग 40 लाख लोगों को स्वरोजगार मिला है, लगभग 13 लाख लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर मिला है, लगभग 50 लाख लोगों को मोबाइल मिला है, लगभग 11 लाख बालिकाओं को राजश्री योजना का फायदा मिला है, 80 लाख शौचालयों का निर्माण हुआ है, बेटियों को लैपटॉप और स्कूटी मिली है और राज्य के 40 लाख से अधिक किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा से लाभान्वित हुए हैं। लाखों युवाओं को स्किल डेवलपमेंट के तहत प्रशिक्षित किया गया है।

 

श्री शाह ने कांग्रेस की गहलोत सरकार से वसुंधरा सरकार की तथ्यात्मक तुलना करते हुए कहा कि पांच वर्ष पूर्व कांग्रेस की गहलोत सरकार के समय राजस्थान का बजट महज 94,000 करोड़ रुपये था जबकि वसुंधरा सरकार के समय यह बढ़ कर 2,12,000 करोड़ रुपये तक पहुँची है। उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार केवल 52,000 करोड़ रुपये का ही राजस्व अर्जित कर पाती थी जबकि वसुंधरा सरकार के प्रयासों के कारण यह अब बढ़ कर 103000 करोड़ रुपये तक पहुंचा है। प्रति व्यक्ति आय पांच वर्ष में ही 61,000 रुपये से बढ़ कर 76,000 रुपये हो गई है।

 

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश सुरक्षित और मजबूत हुआ है। सर्जिकल स्ट्राइक से विश्व भर में भारत एक निर्णायक राष्ट्र के रूप  में प्रतिष्ठित हुआ है। अवैध घुसपैठियों की पहचान के लिए जब हमने एनआरसी को बनाना शुरू किया तो कांगेस एंड कंपनी अवैध घुसपैठियों के पक्ष में खड़ी हो गई, उन्हें घुसपैठियों के मानवाधिकार की याद आने लगी। कांग्रेस पार्टी को देश की रक्षा में हुए शहीदों के मानवाधिकार की चिंता क्यों नहीं सताती, देश के गरीबों की मानवाधिकार की चिंता क्यों नहीं सताती? उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी एंड कंपनी को घुसपैठियों के मानवाधिकार की चिंता तो है लेकिन देश के नागरिकों के मानवाधिकार की चिंता नहीं है। हम देश की सुरक्षा के मामले में पीछे नहीं हटेंगे चाहे हमारी जान ही क्यों न चली जाए, हमारे लिए राष्ट्र सर्वप्रथम है। 2019 में केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में फिर से सरकार आने के बाद देश में एक भी घुसपैठिये को नहीं रहने दिया जाएगा।

 

(महेंद्र पांडेय)

कार्यालय सचिव

 

 

Tag: 11

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter